एक्यूट

एक्यूट रेटिंग्स एंड रिसर्च लि. (पूर्ववर्ती स्मेरा रेंटिग्स लिमिटेड)

एक्यूट रेटिंग्स एंड रिसर्च लिमिटेड (एक्यूट) की स्थापना 2005 में की गई और यह ऋणों के श्रेणीनिर्धारण एवं अनुसंधान के लिए एक कंपनी है तथा सार्वजनिक, विदेशी और निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंकों और डन एंड ब्रैडस्ट्रीट इन्फॉर्मेशन सर्विसेस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (डीएंडबी) के साथ संयुक्त रूप से की गई सिडबी की एक पहल है, जिसका उद्देश्य व्यापक, पारदर्शी और विश्वसनीय रेटिंग और जोखिम की रुपरेखा उपलब्ध करवाना है।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) में पंजीकृत एवं भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा मान्यता प्राप्त एक्यूट ने (यथा 30 नवम्बर, 2018) विभिन्न प्रतिभूतियों और भारत में फैले उद्योगों के ऋण लिखतों एवं संस्थाओं को प्रदत्त बैंक सुविधाओं के 7000 से अधिक ऋणों के श्रेणीनिर्धारण किए हैं। अपनी स्थापना से पाँच वर्षों के अन्दर इस संस्था द्वारा यह उपलब्धि हासिल की गई है और बैंकों द्वारा प्रदत्त ऋणों का श्रेणीनिर्धारण हमारे व्यवसाय के कार्ययोग्य, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष राय के प्रति भारतीय उधारदाताओं एवं निवेशकों का विश्वास दर्शाता है।

लघु एवं मध्यम उद्यमों के श्रेणीनिर्धारण के लिए एक्यूट का एक अलग प्रभाग है, जिसे स्मेरा के नाम से जाना जाता है। यथा 30 नवम्बर, 2018 को इस प्रभाग ने पूरे देश के 300 से अधिक लघु एवं मध्यम उद्यम समूहों के 50,000 से अधिक श्रेणीनिर्धारण किए हैं। स्मेरा की स्थापना वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक के एक पहल के तहत विश्वस्त ऋण जानकारी और ऐसे उपक्रमों के श्रेणीनिर्धारण के प्रसार से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों की संवृद्धि हेतु की गई थी।

एक्यूट में प्रबंध स्नातकोत्तर, सनदी लेखाकार, सनदी वित्तीय विश्लेषक, एफआरएम, अर्थशास्त्री, सांख्यिको एवं इंजिनियरों सहित पेशेवरों का समृद्ध नियोजन है। एक्यूट का पंजीकृत मुख्यालय मुंबई में है और नौ शहरों में शाखा कार्यालय हैं।

इसके अतिरिक्त एक्यूट विभिन्न उद्यमों और भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभावशाली शोध संचालित करता है। महत्त्वपूर्ण आर्थिक घटनाओं पर एक्यूट की राय को, विभिन्न क्षेत्रों पर प्रभाव विश्लेषण और कार्यनिष्पादन पर राय और दृष्टिकोण का उपयोग नैगम भारत द्वारा अधिक सूचनासम्मत व्यवसाय निर्णयों के लिए किया जाता है। एक्यूट का विस्तार विमानन से बैंकिंग, सीमेंट, दुग्ध व्यवसाय, शिक्षा, कपड़ा, होटेल, सूचना प्रोद्यौगिकी, सूचना प्रोद्यौगिकी इंजिनियरिंग, आभूषण, चमड़ा, विनिर्माण, तेल एवं गैस, शक्ति, क्यूएसआर स्टील, दूरभाष और विभिन्न प्रकार के अन्य उद्यमयों तक है।

अपने नाम के अनुरूप, जिसका तात्पर्य विचार और दृष्टिकोण में कुशाग्रता है, यह पूँजी बाजार के भागीदारों निवेशकों, जारीकर्ताओं एवं उधारदाताओं को जानकारी आधारित निर्णय लेने की शक्ति प्रदान करता है।