बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों, लघु वित्त बैंकों के माध्यम से सहायता

एनबीएफसीज को सहायता

भारतीय रिजर्व बैक के पास पंजीकृत ऐसी गैर-बैंकिंग वित्तपोषी कंपनियाँ (एनबीएफसीज़) जिनमें आस्ति वित्त कंपनियाँ / ऋण कंपनियाँ / इन्फ्रास्ट्रक्चर वित्त कंपनियाँ (जमा लेने वाली और जमा न लेने वाली दोनों श्रेणियों) शामिल हैं, जो सूक्ष्म, लघु व मध्यम क्षेत्र (एमएसएमई) उद्यमों के वित्तपोषण में संलग्न हैं।

ये सभी संस्थाएं (यथा एमएसएमईडी अधिनियम 2006 में परिभाषित) मंजूरी के लिए निर्धारित मानदण्डों को पूरा करने पर सिडबी से संसाधन सहायता प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Micro and Small Enterprises Refinance Scheme (MSERS)

सिडबी की एमएसईआरएस योजना के अंतर्गत अनुसूचित बैंक (जिनमें राज्य सहकारी बैंक, शहरी सहकारी बैंक, निजी क्षेत्र के बैंक, और विदेशी बैंक आदि भी शामिल हैं) और चुनिन्दा वित्तीय संस्थाएं सहायता हेतु पात्र हैं। इसमें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक भी शामिल हैं, जिसका आधार उनका क्षमता निर्माण है।

इस योजना के अंतर्गत सिडबी की सहायता सुदृढ़ वित्तीय स्थिति वाले उन बैंकों को भी उपलब्ध है, जो निम्नलिखित पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं:

  1. वे 3 वर्षों से परिचालन में हों
  2. विगत 2 वर्षों में लाभ अर्जित किया हो
  3. सूक्ष्म और लघु उद्यमों (एमएसई) को वित्तीय सहायता के बकाया संविभाग का समुचित परिमाण होना चाहिए और
  4. पिछले लेखापरीक्षित तुलन-पत्र के अनुसार सुदृढ़ वित्तीय आधार होना चाहिए, यथा –
    1. निवल मालियत रु.50 करोड़ से कम न हो
    2. पूंजी की तुलना में जोखिम-भारित आस्तियों का अनुपात (सीआरएआर) 9% से कम न हो; और
    3. निवल गैर-निष्पादक आस्तियों का स्तर 10% से अधिक न हों।

इसके अलावा योजना के अंतर्गत यह सहायता सिडबी द्वारा प्रत्येक बैंक के लिए तय की गई ऋण-जोखिम सीमा के अधीन होगी।

कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Assistance to Small Finance Banks (SFBs)

लघु वित्त बैंकों (एसएफबीज़) को सुदृढ़ बनाने और उनके पूंजी व संसाधन आधार को बढ़ाने हेतु दो सुविधाएँ आरंभ की गईं हैं:

  • एसएफबीज़ को स्थापित करने/ पूँजीकरण हेतु उनके आरंभिक ईक्विटी/ पूँजी के अन्तराल को भरने के लिए विशेषकर घरेलू स्रोतों से ईक्विटी की अपेक्षा को पूरा करने हेतु ईक्विटी निवेश प्रदान करना।
  • अल्प वित्त संस्थाओं/ एन बी एफ सीज़ के लघु वित्त बैंकों में रूपांतरित होने के पश्चात भी सिडबी पुनर्वित्त सहायता प्रदान कर रहा है।

कृपया यहाँ क्लिक करें