finncial-banner

स्टेप

प्रमुख बिंदु

  • एनडब्ल्यूसी परिवर्धन और/या तत्काल पुष्ट किए गए आदेशों को निष्पादित करने के लिए पात्र एमएसएमई को मध्यम/अल्पकालिक वित्तीय सहायता प्रदान करना।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) के उत्पादन बढ़ाने की योजनाओं के लिए सिडबी का सावधि ऋण (स्टेप ) के बारे में दिशानिर्देश

  • एनडब्ल्यूसी को बढ़ाने और/या तत्काल पुष्ट किए गए आदेश के निष्पादन के लिए पात्र सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को मध्यम/ अल्पकालिक वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  • मौजूदा उधारदाताओं से नियमित कार्यशील पूंजी सीमा में वृद्धि नहीं किए जाने की पुष्टि के उपरांत वृद्धिशील कार्यशील पूंजी की आवश्यकताओं को भी वित्त-पोषित किया जा सकता है।
  • रुपया और विदेशी मुद्रा दोनों में।
  • सामान्यत:, 3 साल तक (6 महीने तक की अधिस्थगन अवधि सहित)।
  • सीजीटीएमएसई कवर की उपलब्धता
  • सरलीकृत दस्तावेज
  • शीघ्र मंजूरी एवं संवितरण।
  • एमएसएमईडी अधिनियम के अनुसार मौजूदा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) की- इकाइयां
  • इकाई द्वारा न्यूनतम 3 वर्ष का परिचालन अपेक्षित है। (सिडबी के मौजूदा ग्राहक के लिए 2 वर्ष)
  • कार्यशील पूंजी सावधि ऋण केवल उन्हीं उपक्रमों को प्रदान किया जाएगा जो किसी भी बैंक / वित्तीय संस्था से कार्यशीलपूंजी ऋण / ओवरड्राफ्ट सुविधा नहीं ले रहे हैं।
  • पिछले 2 वर्षों के दौरान परिचालन लाभ (मौजूदा ग्राहकों के लिए 1 वर्ष)।
  • मानक योजना मानदंड लागू हैं (सिबिल / सीएमआर, सम्यक सावधानी, जांच आदि)
  • किसी भी बैंक/वित्तीय संस्था के साथ चूक नहीं किया गया होना चाहिए।
सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम इकाइयां
  • मौजूदा ग्राहकों के लिए `300 लाख तक
  • नए ग्राहकों के लिए `200 लाख तक
  • ब्याज दर - आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याजदर ।

संगम

सूक्ष्म उद्यमों को वित्तीय सहायता के लिए सिडबी और गूगल की साझेदारी (संगम)

क्षमता विस्तार या कार्यशील पूंजी की आवश्यकता को पूरा करने के लिए सूक्ष्म उद्यमों को सावधि ऋण के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • 100% तक वित्त
  • क्षमता विस्तार और कार्यशील पूंजी की आवश्यकता दोनों का वित्तपोषण।
  • शून्य - संसाधन शुल्क।
  • 6% प्रति वर्ष ब्याज दर (महिलाओं द्वारा परिचालित / स्वामित्व वाले उद्यमों के लिए 5.50% प्रतिवर्ष)।
  • 5 वर्ष तक की चुकौती (कार्यशील पूंजी सावधि ऋण के लिए 3 वर्ष)।
  • सीजीटीएमएसई कवर की उपलब्धता।
  • सरलीकृत दस्तावेजीकरण
  • शीघ्र मंजूरी एवं संवितरण।
  • सूक्ष्म उद्यमों को सावधि ऋण
  • इकाई द्वारा न्यूनतम 2 वर्ष के परिचालन की आवश्यकता है।
  • पिछले 2 वर्षों के दौरान परिचालन लाभ।
  • पिछले एक वर्ष के दौरान नकद लाभ।
  • पिछले 24 महीनों के दौरान किसी भी बैंक/वित्तीय संस्था आदि में कोई चूक/अपचार नहीं है।
  • मानक मानदंड लागू हैं (सीबिल / सीएमआर, सम्यक सावधानी, निगरानी आदि।
  • महिलाओं द्वारा परिचालित/स्वामित्व वाले उद्यमों और छोटे शहरों (महानगरों के अलावा) के उद्यमियों को वरीयता।
  • 100 लाख तक सावधि ऋण
  • समय-समय पर आवंटित/किए गए निर्णय के अनुसार कोष के उपयोग तक
ब्याज दर- 6% प्रति वर्ष की ब्याज दर। (5.50% प्रति वर्ष महिलाओं द्वारा परिचालित / स्वामित्व वाले उद्यमों के लिए)।

उभरते सितारे कार्यक्रम

प्रमुख बिंदु

  • भूमि और भवन, मशीनरी और उपकरण आदि में निवेश द्वारा विस्तार, आधुनिकीकरण, विविधीकरण, प्रौद्योगिकी/क्षमता उन्नयन, उत्पाद अनुसंधान एवं विकास आदि के लिए निर्यातोन्मुख एमएसएमई को सावधि ऋण।

उभरते सितारे कार्यक्रम के तहत निर्यातोन्मुख सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम इकाइयों को सिडबी की सहायता

  • उच्च क्षमता वाले भावी निर्यात चैंपियन
  • अद्वितीय प्रौद्योगिकी, उत्पादों या प्रक्रियाओं वाली इकाइयाँ।
  • उच्च निर्यात संभावना वाले क्षेत्र, अर्थात ऑटोमोबाइल, एयरोस्पेस और रक्षा, रसायन, खाद्य संसाधन , आईटी और आईटीईएस, फार्मास्यूटिकल्स, सटीक इंजीनियरिंग, कपड़ा और संबद्ध क्षेत्र, आदि।
  • ब्याज दर - बैंक के एमसीएलआर/रेपो दर के आधार पर, लागू स्प्रेड के साथ (आंतरिक रेटिंग के अनुसार)
  • चुकौती – सामान्यत: 6 साल तक (10 साल तक बढ़ाई जा सकती है)
  • 2 साल तक की अधिस्थगन अवधि
  • आवश्यकता आधारित वित्तीय सहायता, परियोजना लागत के अधिकतम 80% के अधीन।
  • एक्जिम बैंक के साथ संयुक्त वित्तपोषण उपलब्ध है।
  • आकर्षक ब्याजदर
  • 20% प्रवर्तकों का योगदान (ग्रीनफील्ड इकाइयों के लिए 30%)
  • सावधि ऋण/विदेशी मुद्रा सावधि ऋण की सुविधा उपलब्ध
  • संरक्षण समर्थन, ईक्विटी समर्थन आदि के लिए तकनीकी सहायता।
  • 25 बीपीएस तक का कार्यनिष्पादन/ उपलब्धि सम्बद्ध ब्याज प्रोत्साहन।
  • नई इकाइयाँ - व्यवसाय के प्रस्तावित क्षेत्र में पर्याप्त अनुभव रखने वाले प्रवर्तक और निर्यात से अनुमानित प्रमुख राजस्व। प्रमुख संस्थानों (जैसे आईआईटी, आईआईएम, आईआईएससी, एनआईटी आदि) के टेक्नोक्रेट द्वारा सह-वित्त पोषित इकाइयों के लिए, व्यवसाय की प्रस्तावित लाइन में पर्याप्त अनुभव पर बल नहीं दिया जाएगा।
  • मौजूदा इकाइयां - मूलभूत रूप से सुदृढ़ निर्यातोन्मुख संतोषजनक वित्तीय स्थिति वाली छोटी और मध्यम आकार की कंपनियां।
  • मानक मानदंड लागू होते हैं (सिबिल / सीएमआर, सम्यक सावधानी जांच आदि)

स्थापन

मुख्य बिन्दु

  • नई इकाइयों की स्थापना के लिए ग्रीनफील्ड इकाइयों को वित्तीय सहायता जिसमें शामिल हैं:
  • भूमि की खरीद,
  • कारखाने के भवन का निर्माण,
  • उपकरण, संयंत्र और एमएफए आदि की खरीद।

नए उद्यमों में पूंजीगत आस्तियों की खरीद के लिए सिडबी कीविषयगत सहायता (स्थापन)

  • आकर्षक ब्याज दर
  • शीघ्र मंजूरी
  • नई संस्थाएं या ग्रीनफील्ड इकाइयां पात्र हैं
  • 5 करोड़ रुपये से अधिक के ऋण के लिए प्रवर्तकों के पास व्यवसाय में 5 वर्ष का पूर्व अनुभव होना चाहिए। 5 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए योजना के तहत नई इकाई के प्रवर्तकों को विनिर्माण गतिविधि में 3 साल का पूर्व व्यावसायिक अनुभव होना चाहिए।
  • प्रवर्तकों का योगदान - न्यूनतम 25% मानक मानदंड लागू होते हैं (सिबिल / सीएमआर, सम्यक सावधानी जांच आदि)
  • उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (भारत सरकार द्वारा निर्धारित की गई सूची के अनुसार), उच्च विकास / नवोदित क्षेत्रों और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों के तहत निर्धारित किए गए क्षेत्रों में इकाइयों की स्थापना करने वाले एमएसएमई इकाइयां
  • ₹2000 लाख तक का सावधि ऋण, परियोजना लागत के अधिकतम 75% के अधीन
  • समय-समय पर आवंटित/किए गए निर्णय के रूप में कोष के उपयोग तक
  • पहले वर्ष के लिए रेपो दर + 2.20% से 3.50% (अस्थाई) और उसके बाद रीसेट लागू (आंतरिक रेटिंग के अनुसार)
  • चुकौती - सामान्यत: 7 साल तक
  • अधिस्थगन अवधि - 2 वर्ष तक

एआरआईएसई

प्रमुख बिंदु

  • ब्राउनफील्ड/मौजूदा संस्थाओं द्वारा एक ही व्यवसाय में विस्तार/आधुनिकीकरण /पूंजीगत व्यय करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

एसएमई इकाइयों (एआरआईएसई) द्वारा पूंजी निवेश को पुन:सक्रिय करने के लिए सहायता

  • आकर्षक ब्याज दर
  • 5 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए 100% वित्तपोषण, 25% तक की एफडी पर आधारित (ब्याज वहन)
  • त्वरित मंजूरी
  • सावधि ऋण/विदेशी मुद्रा सावधि ऋण की सुविधा उपलब्ध
  • परिचालन और लेखापरीक्षित खातों के न्यूनतम दो वर्ष [न्यूनतम दो पूर्ण वर्षों के लिए]
  • पिछले लेखापरीक्षित वित्तीय परिणामों में नकद लाभ
  • मानक मानदंड लागू होते हैं (सिबिल / सीएमआर, सम्यक सावधानी जांच आदि)
  • उच्च विकास और प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में संलग्न एमएसएमई (नवोदित क्षेत्रों सहित)
  • Rs.700 लाख तक का सावधि ऋण, परियोजना लागत के अधिकतम 80% के अधीन
  • समय-समय पर आवंटित/किए गए निर्णय के रूप में कोष के उपयोग तक।
  • पहले वर्ष के लिए रेपो दर + 1.70% से 3.00% (अस्थिर) और उसके बाद रीसेट लागू (आंतरिक रेटिंग के अनुसार)
  • चुकौती - सामान्यत: 7 साल तक
  • अधिस्थगन अवधि - 2 साल तक

त्वरित

  • योजना (ईसीएलजीएस) का उद्देश्य उन एमएसएमई इकाइयों को आवश्यक राहत प्रदान करना है, जिनका परिचालन कोविड-19 से प्रभावित हुआ है।

कोरोना संकट के समय में उद्योगों को पुनर्जीवित करने के लिए समय पर कार्यशील पूंजी सहायता (त्वरित)

  • आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) दिशानिर्देशों के अनुसार।
  • आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) दिशानिर्देशों के अनुसार
  • पहले वर्ष के लिए निश्चित दर, उसके 1 वर्ष के बाद लागू ब्याज रीसेट के साथ।
  • प्राथमिक सुरक्षा/संपार्श्विक सुरक्षा पर प्रभारों का विस्तार।
  • त्वरित के तहत दी गई अतिरिक्त कार्यशील पूंजी सावधि ऋण सुविधा को चलनिधि प्रवाह और प्रतिभूति के प्रति मौजूदा क्रेडिट सुविधाओं एवं दूसरे प्रभार के साथ, वितरण की तारीख से 3 महीने की अवधि के भीतर बनाई जाने वाली योजना के तहत वित्तपोषित आस्तियों पर प्रभार के साथ होगी।
  • त्वरित के तहत अतिरिक्त निधियन के लिए कोई अतिरिक्त संपार्श्विक पर बल नहीं दिया जाएगा।
  • 31 मार्च, 2023 तक या एनसीजीटीसी द्वारा अधिसूचना तक या जो भी पहले हो, तक वैध।
  • शून्य
  • आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) दिशानिर्देशों के अनुसार
  • इस योजना के तहत प्रदान की गई ऋण सुविधाओं के लिए उधारकर्ता से कोई गारंटी शुल्क नहीं लिया जाएगा।
  • मौजूदा निर्देशों के अनुसार निष्पादित किए जाने वाले ऋण दस्तावेज
  • आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) दिशानिर्देशों के अनुसार

स्टार

रूफटॉप सोलर पीवी प्लांट्स (स्टार) के लिए सिडबी सावधि ऋण सहायता

  • एमएसएमई द्वारा अपने बिजली बिल को कम करने में सहायता करना
  • 25 किलोवाट से 1 मेगावाट संयंत्रों के पूरे खंड में कवरेज (सांकेतिक)
  • ऋण राशि: ₹10 लाख से रु.350 लाख
  • त्वरित मंजूरी और शीघ्र भुगतान
  • ऋण की अवधि के दौरान सूर्य के प्रकाश की निर्बाध उपलब्धता के तहत ग्राउंड माउंट सौर संयंत्रों को भी अनुमति दी जाती है
  • 100% वित्त
  • प्रवर्तक का शून्य योगदान
  • ऋण के 15% से 25% तक का सावधि जमा (ब्याज वहन करने वाली)
  • आकर्षक ब्याजदरें
  • क्रेडिट गारंटी कवर उपलब्ध
  • साधारण ऋण दस्तावेज
  • आपूर्तिकर्ता को सीधा भुगतान
  • स्थापित आपूर्तिकर्ताओं, निर्माताओं, एग्रीगेटर्स, आदि से सौर पैनल / उपकरण (सभी सहायक उपकरण सहित)।
  • संस्थापना लागत
  • ऑनलाइन आवेदन
  • मानक केवाईसी जांच और सम्यक सावधानी
  • विंटेज: नया ग्राहक - 3 वर्ष, मौजूदा ग्राहक - 2 वर्ष
  • 2 साल का नकद लाभ
  • संतोषजनक चुकौती ट्रैक रिकॉर्ड
  • नए ग्राहक के लिए: न्यूनतम 0.5% से 0.50% आईएसीआर (यदि कोई सीजीटीएसएमई कवर नहीं है)
  • प्रस्तावित सौर रूफटॉप क्षमता कनेक्टेड लोड से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • केवल ऑन-साइट प्रोजेक्ट
  • ब्याज दर- आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याज
  • 6 से 12 महीने की अधिस्थगन सहित 5 साल तक की चुकौती।

टूलिप

तत्काल उद्देश्यों के लिए टॉप अप ऋण (ट्यूलिप)

  • 10% सावधि ऋण और प्रभार के विस्तार पर आधारित 100% तक का वित्त
  • 7 दिनों के भीतर शीघ्र मंजूरी
  • कोई अतिरिक्त संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं (सिडबी सावधि जमा को छोड़कर)
  • संतोषजनक ट्रैक रिकॉर्ड के साथ सिडबी के साथ न्यूनतम 1 वर्ष की संबद्धता
  • एक ही स्थान पर सम व्यवसाय में विस्तार
  • पिछले वित्त वर्ष में नकद लाभ।
  • मशीनरी/उपकरण की खरीद
  • आवश्यकता आधारित सिविल निर्माण/नवीकरण
  • डीजी सेट/अन्य एमएफए (परीक्षण उपकरण, डाई और मोल्ड आदि सहित) का अधिग्रहण
  • कार्यशील पूंजी के लिए मार्जिन मनी (एमएमडब्ल्यूसी)
  • अचानक/विशिष्ट/थोक आदेश निष्पादित करने के लिए जो स्व-परिसमापन प्रकृति के हैं और समय पर भुगतान करने में ट्रैक रिकॉर्ड वाले न्यूनतम बीबीबी श्रेणीनिर्धारित काउंटर पार्टी या राज्य / केंद्र सरकार विभाग काउंटर पार्टी के प्रतिकूल हैं।
  • मौजूदा एक्सपोजर का 30% या शुद्ध बिक्री का 20% अधिकतम ₹2 करोड़ के अधीन।
  • आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याज दर
  • अधिकतम 5 वर्ष (6 महीने तक की अधिस्थगन सहित)

स्पीड प्लस

उद्यम विकास प्लस के लिए उपकरणों की खरीद के लिए सिडबी ऋण (स्पीड प्लस)

  • उन्नत मशीनरी का 100% तक वित्तपोषण
  • त्वरित मंजूरी और संवितरण
  • संपार्श्विक के रूप में किसी अचल संपत्ति की आवश्यकता नहीं है
  • कम से कम 5 वर्षों के परिचालन में एमएसएमई इकाइयां स्थिर बिक्री और तत्काल पिछले 3 वर्षों में नकद लाभ प्राप्त किया हो
  • ₹5 करोड़ की न्यूनतम निवल बिक्री और तत्काल पिछले दो वर्षों में कोई परिचालन हानि नहीं
  • उच्च स्तरीय मशीनों का निर्माण करने वाले निर्धारित किए गए ओईएम या ऐसे विदेशी ओईएम के प्राधिकृत डीलरों / भारतीय सहायक कंपनियों से खरीदी गई मशीनरी, जिनकी ब्रांड प्रतिष्ठा सुदृढ़ है और जिनके साथ सिडबी ने समझौता ज्ञापन किया है।
  • प्रस्तावित मशीनरी व्यवसाय की उसी पंक्ति से संबंधित होनी चाहिए
  • पुरानी /नवीकृत मशीनें पात्र नहीं हैं
  • मशीनरी लागत का 100% तक, सिडबी के नए ग्राहकों के लिए अधिकतम ₹2 करोड़ (सावधि जमा का 20% - 30% के आधार पर) और सिडबी के मौजूदा ग्राहकों के लिए ₹3 करोड़ तक (15% - 30% सावधि जमा पर आधारित) )
  • आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याज दर
  • 6-12 महीने की अधिस्थगन सहित अधिकतम 7 वर्ष

स्पीड

सिडबी – उद्यम विकास हेतु उपकरण की खरीद हेतु ऋण (स्पीड)

  • 100% तक वित्तपोषण
  • एक पेज का आवेदन प्रारूप
  • त्वरित मंजूरी एवं संवितरण
  • पिछले 2 वर्षों में स्थिर बिक्री और नकद लाभ के साथ कम से कम 3 साल के परिचालन वाली एमएसएमई इकाइयां।
  • बैंक के लिए नए (एनटीबी) के लिए - सिडबी के साथ समझौता ज्ञापन करने वाले ओईएम से खरीदी गई मशीनरी ।
  • मौजूदा ग्राहक के लिए- कोई भी ओईएम
  • प्रस्तावित मशीनरी व्यवसाय के उसी क्षेत्र से संबंधित होनी चाहिए
  • पुरानी/नवीकृत मशीनें पात्र नहीं हैं।
  • मशीनरी लागत का 100% तक, जो कि बैंक के लिए नए ग्राहकों के लिए अधिकतम ₹1 करोड़ और सिडबी के मौजूदा ग्राहकों के लिए ₹2 करोड़ तक है। चुकौती क्षमता के आकलन के आधार पर सिडबी के पास कम राशि मंजूर करने का अधिकार सुरक्षित है।
  • आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याज दर
  • 6 महीने तक की अधिस्थगन सहित 2 से 5 साल

प्रथम

हाइब्रिड या वैकल्पिक-प्रतिभूति मॉडल (प्रथम) के आधार पर एमएसएमई को वरीय सहायता (प्रथम)

  • 100% तक वित्तपोषण
  • एक पेज का आवेदन प्रारूप
  • त्वरित मंजूरी और संवितरण
  • पिछले तीन वर्षों में शुद्ध लाभ के साथ कम से कम 3 साल के संचालन वाले एमएसएमई।
  • पिछले तीन वर्षों से नकद लाभ वाली इकाइयां भी पात्र होंगी
  • संयंत्र और मशीनरी
  • सहायक उपकरण/एमएफए
  • स्थापना/परिवहन लागत को शामिल किया जा सकता है
  • मानक दिशा-निर्देशों के अधीन सेकेंड हैंड/सुसज्जित मशीनों की भी अनुमति है
  • ऐसी मशीनरी जो स्पीड/स्पीड प्लस के अंतर्गत नहीं आती है
  • कुल परियोजना लागत का 100% तक, अधिकतम ₹300 लाख (30% - 40% FD के आधार पर)। चुकौती क्षमता के आकलन के आधार पर सिडबी के पास कम राशि मंजूर करने का अधिकार सुरक्षित है।
  • आंतरिक रेटिंग के अनुसार एमसीएलआर आधारित ब्याज दर
  • 6-12 महीने की अधिस्थगन सहित आम तौर पर, 5 साल तक.

कार्यशील पूंजी

  • वर्तमान में ऐसे एमएसएमई के लिए उपलब्ध है, जिनके पास सिडबी से बकाया सावधि ऋण हैं या सिडबी से सावधि ऋण और कार्यशीलपूंजी दोनों का लाभ उठाने का प्रस्ताव है।
  • 2-3 बैंकों में से बैंकिंग प्लेटफॉर्म चुनने का विकल्प
  • आहरण शक्ति आदि सेट करने के लिए ग्राहक के निर्देशों के अनुसार निर्बाध मंजूरियां।
  • सावधि ऋण ग्राहक के लिए कार्यशील पूंजी सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए सिंगल विंडो।

कार्यशील पूँजी (नकद ऋण)

  • पात्र एमएसएमई इकाई होनी चाहिए।
  • निम्नलिखित में से किसी भी श्रेणी के ग्राहकों के लिए सिडबी द्वारा सहायता पर विचार किया जाएगा।
  • मौजूदा ग्राहक जो पूरी तरह से बैंक के साथ बैंकिंग कर रहे हैं।
  • बैंक के मौजूदा ग्राहक (जो अन्य बैंकों के साथ भी बैंकिंग कर रहे हैं)।
  • अच्छा प्रदर्शन करने वाली मौजूदा संस्थाएं जो बैंक में नई हैं और किसी अन्य बैंक के साथ कार्यशील पूंजी सुविधा का लाभ नहीं ले रही हैं; जहां बैंक द्वारा सावधि ऋण पर विचार किया जाता है।
  • नई संस्थाएं जहां बैंक द्वारा सावधि ऋण पर विचार किया जाता है।
  • सावधि ऋण अधिग्रहण के एक भाग के रूप में कार्यशील पूंजी खातों के अधिग्रहण पर, अधिग्रहण दिशानिर्देशों के अनुपालन के अधीन विचार किया जा सकता है।
योजना के तहत न्यूनतम वित्तीय मानकों को पूरा करना।
मानकपात्रता मानदंड
• कुल बाहरी देयताएँ /मूर्त मालियत (टीओएल/टीएनडब्ल्यू) 4:1 से अधिक नहीं होना चाहिए
वर्तमान अनुपात 1.25
ब्याज कवरेजन्यूनतम 1.50 गुना
समग्र आस्ति कवरेजमौजूदा इकाइयों के लिए 1.30 और नई परियोजनाओं के लिए 1.40.
आंतरिक रेटिंगमौजूदा बैंक के मानदंडों के अनुसार

ऋण – मूल उपकरण निर्माता भागीदारी

प्रमुख बिंदु

  • ओईएम से मशीन खरीदने वाले एमएसएमई के लिए एक ही जगह पर समाधान।
  • ओईएम को कार्यादेश देते समय वित्तीय टाई-अप की व्यवस्था की गई है
  • साधारण साख व्यवस्था।
  • सीजीटीएमएसई कवर के तहत त्वरित संवितरण एमएसएमई द्वारा किए जाने का प्रस्ताव है।

ओईएम के साथ साझेदारी के तहत ऋण

संतोषजनक वित्तीय स्थिति वाली एमएसएमई संस्थाएं कम से कम 3 वर्षों से अस्तित्व में होनी चाहिए।
संबंधित ओईएम से खरीदे गए संयंत्र और मशीनरी में निवेश।
सामान्यत: ₹100.00 लाख तक। उच्च ऋण राशि पर भी बैंक के दिशानिर्देशों के अधीन विचार किया जा सकता है।
स्माइल के अनुरूप
सामान्यत: पात्र अधिस्थगन सहित 60 महीने तक।

स्माइल

  • प्रतिस्पर्धी ब्याज दरें।
  • सुलभ ऋण के माध्यम से आंशिक प्रवर्तक अंशदान का वित्तपोषण।
  • चुकौती के लिए दीर्घावधि
  • त्वरित वितरण

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के लिए सिडबी के मेक इन इंडिया का सुलभ ऋण

  • विनिर्माण के साथ-साथ सेवा क्षेत्र में नए उद्यमों को शामिल करने पर बल दिया जाएगा।
  • तथापि, एमएसएमई के भीतर छोटे उद्यमों के वित्तपोषण पर जोर दिया जाएगा।
  • नए उभरते अवसरों का लाभ उठाने के लिए विस्तार करने वाले मौजूदा उद्यमों के साथ-साथ आधुनिकीकरण, प्रौद्योगिकी उन्नयन या अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए अन्य परियोजनाओं को भी शामिल किया जाएगा।
  • न्यूनतम ऋण आकार - ₹ 10 लाख उपकरण वित्त और अन्य के लिए: ₹ 25 लाख।
  • 3:1 . के अधिकतम ऋण ईक्विटी अनुपात के अधीन 15% का न्यूनतम प्रवर्तक योगदान
  • 36 महीने तक की अधिस्थगन अवधि सहित 10 वर्ष तक की लंबी चुकौती अवधि।
सावधि ऋण
  • परियोजना के तहत सृजित सभी आस्तियों पर पहला प्रभार।
  • प्रवर्तकों की व्यक्तिगत गारंटी।
  • ₹ 2 करोड़ तक के सावधि ऋण वाले मामलों को सीजीटीएमएसई की क्रेडिट गारंटी योजना के तहत कवर किया जा सकता है।
मौजूदा ऋण नीति के अनुसार एसीआर एवं एफएसीआर मानदंड लागू होंगे
सुलभ ऋण
  • सम्पूर्ण आस्तियों पर अवशिष्ट प्रभार
  • प्रवर्तक की व्यक्तिगत गारण्टी